प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में गठित मंत्रिमंडल, राजनाथ सिंह को रक्षा मंत्री, अमित शाह को गृह और निर्मला सीतारमण को वित्त मंत्री बनाया गया। वहीं पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर नए विदेश मंत्री।

पीएम मोदी के सबसे भरोसेमंद और गुजरात में उनके मुख्यमंत्री रहने के दौरान गृह मंत्रालय की जिम्मेदारी निभा चुके अमित शाह को देश का नया गृह मंत्री बनाया गया है। वहीं, मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में गृह मंत्री की भूमिका में रहे राजनाथ सिंह को रक्षा मंत्री के तौर पर नई जिम्मेदारी सौंपी गई है। नितिन गडकरी को पहले की तरह ही सड़क परिवहन, जबकि अरुण जेटली के सरकार में शामिल न होने की स्थिति में रक्षा मंत्री रहीं निर्मला सीतारमण को इस बार वित्त मंत्री बनाया गया है। वहीं पूर्व विदेश सचिव एस. जयशंकर को विदेश मंत्री बनाया गया है। प्रकाश जावड़ेकर को सूचना एवं प्रसारण मंत्री बनाया गया है।

गुरूवार को शपथ लेने वाले केंद्रीय मंत्रिमंडल के सदस्यों को उनके विभागों को बंटवारा कर दिया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पास परमाणु ऊर्जा, अंतरिक्ष, कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन जैसे विभागों को अपने पास रखा है। 

पिछली सरकार में गृह मंत्री की जिम्मेदारी संभालने वाले राजनाथ सिंह को इस बार रक्षा मंत्री बनाया गया है। वहीं केंद्रीय मंत्रिमंडल में पहली बार शामिल किए गए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को गृह मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है। 

नितिन गडकरी को पिछली बार की तरह सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री बनाया गया है इसके अलावा उनके पास लघु, सूक्ष्म और मध्यम उद्योग मंत्रालय का भी कार्यभार होगा। कर्नाटक से बड़े चेहरे के रुप में केंद्रीय मंत्रीमंडल में शामिल किए गए सदानंद गौड़ा को रसायन और खाद विभाग का प्रभार सौंपा गया है। रक्षा मंत्रालय का कार्यभार संभालती आ रही निर्मला सीतारमण के कंधों पर इस बार वित्त मंत्रालय का जिम्मा सौंपा गया है। इसके साथ ही वे कॉरपोरेट मामलों की भी मंत्री होंगी। लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान के विभाग में कोई बदलाव नहीं किया गया है। वे अभी भी उपभोक्ता मामलों, खाद्य और सार्वजनिक वितरण के मंत्री होंगे। नरेंद्र सिंह तोमर के पास कृषि मंत्रालय जैसे महत्वपूर्ण विभाग की जिम्मेदारी होगी। इसके अतिरिक्त वे ग्रामीण विकास और पंचायती राज विभाग भी संभालेंगे। 

पहली बार पटना सहिब से जीतकर लोकसभा के सदस्य बनें रवि शंकर प्रसाद विधि और न्याय, संचार, इलेक्ट्रानिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के मंत्री होंगे। हरसिमरत कौर बादल को खाद्य प्रसंस्करण, थावर चंद गहलोत को सामाजिक न्याय और अधिकारिता को मंत्री बनाया गया है।

पूर्व वित्त सचिव एस जयशंकर को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी देते हुए विदेश मंत्री बनाया गया है। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और पहली बार केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह पाने वाले रमेश पोखरियाल निशंक को मानव संसाधन विकास मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है।  अर्जुन मुंडा को आदीवासी मामलों, स्मृति ईरानी को महिला एवं बाल विकास के साथ कपड़ा, डाक्टर हर्षवर्धन को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के साथ विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी और पृथ्वी विज्ञान विभाग का मंत्री बनाया गया है। 

प्रकाश जावड़ेकर को सूचना एवं प्रसारण मंत्री बनाया गया इसके अलावा उनके पास पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन का भी प्रभार होगा। पीयूष गोयल के मंत्रालय में कोई बदलाव न करते हुए उन्हें रेलवे मंत्री बनाया गया है। इनके पास वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय भी होगा। धर्मेंद्र प्रधान को पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस के साथ-साथ स्टील मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है। मुख्तार अब्बास नकवी अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री बने रहेंगे। प्रलहाद जोशी को संसदीय कार्य मंत्रालय का जिम्मा सौंपा गया है। इसके अतिरिक्त वे कोयला और खादानों के मंत्री भी होंगे। पिछली सरकार के दौरान राज्य मंत्री रहे महेंद्र नाथ पांडे को इस बार कैबिनेट मंत्री बनाया गया। उन्हें कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है। अरविंद सावंत को भारी उद्योग और लोक उद्यम, गिरीराज सिंह को पशुपालन, डेयरी और मछली, गजेंद्र सिंह शेखावत को जल शक्ति मंत्री बनाया गया है। 

केंद्रीय मंत्रिमंडल में 9 लोगों को राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार बनाया गया है। बात करें श्रम मंत्रालय की तो इसके कामकाज का जिम्मा बरेली से सांसद संतोष गंगवार के कंधों पर होगा। जिन्हें श्रम मंत्रालय में राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार बनाया गया है। राव इंद्रजीत सिंह को सांख्यिकी और कार्यक्रम क्रियान्यवयन विभाग में राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार बनाया गया है। श्रीपद यशो नायक के पास आयुष विभाग का प्रभार होगा वहीं डाक्टर जितेंद्र सिंह प्रधानमंत्री कार्यालय, पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास के मंत्री होंगे। पूर्वोत्तर के प्रमुख चेहरों मे से एक किरेन रिजिजू को खेल एवं युवा मामले, प्रहलाद सिंह पटेल को पर्यटन और संस्कृति, राजकुमार सिंह को ऊर्जा, नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय में राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार बनाया गया है। नौकरशाह से नेता बने हरदीप सिंह पुरी को आवास एवं शहरी मामले के अतिरिक्त नागरिक उड्डयन की जिम्मेदारी दी गई है। गुजरात से आने वाले मनसुख मांडविया को जहाजरानी विभाग में राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार बनाया गया है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *